पलकों को जब जब आप ने झुकाया है

पलकों को जब जब आप ने झुकाया है

पलकों को जब जब आप ने झुकाया है,
बस एक, बस एक ही ख्याल दिल में आया है
कि जिस खुदा ने तो तुम्हें बनाया है
तुम्हें धरती पर ना पर भेज कर वह कैसे जी पाया है

Love Shayari - Palkon ko jab jab aapne jhukaya hai

ज़िंदगी में आपकी एहमियत हम आपको बता नहीं सकते
दिल में आपकी जगह हम आपको दिखा नहीं सकते
कुछ रिश्ते बहोत अनमोल होते हैं
इससे जयादा हम आपको समझा नहीं सकते ।

Love Shayari - Jindagi main aapki ahemiyat hum aapko bata nahin sakte

इश्क ऐसा करो की धड़कन में बस जाए
सांस भी लो, तो खुश्बू भी उसी की आये
प्यार का नशा आंखों पर छा जाए
बात किसी की भी हो नाम उसी का आये

Love Shayari - ishq aise kao ki dhadkan main bas jaye

“ न ज़िद है हमें और ना ही कोई ग़ुरूर
अगर है तो तुम्हे पाने का सुरूर… 
अगर इश्क गुनाह है, 
तो फक्र से कहतें हैं…ये गलती की हमने,
अब सज़ा जो भी हो मंजूर है हमें ”

Love Shayari - Na zid hai hume aur nahi koi gurur

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है, 
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है.. 
अगर प्यार करो सच्चे दिल से,
तो वोही प्यार, जीने की वजह बन जाता है..!

Spread the love

Leave a Reply

Close Menu